पानी का मौसम कैसे रहेगा

சப்போட்டா பழத்தின் நன்மைகள்

சப்போட்டா பழத்தின் நன்மைகள், माँ थोड़ी देर बैठने के बाद काम करने चली गईं और मैं नहाने चला गया। नहाते वक़्त मैं सोच रहा था की अब तो बस चुदाई बंद ही करनी पड़ेगी। लंड को देख कर मुझे रोना आ रहा था। जीशान फिर से सोफिया के होंठों को अपनी रूमानियत से नहीं , बल्की उसके होंठों से निकलते हुये खून को बंद करने के लिए कितनी ही देर तक दोनों एक दूसरे के होंठों को चूमते रहते हैं, और उसकी वजह से सोफिया के होंठों से खून निकलना बंद हो जाता है।

मैं धन्य हो गयी, मेरी कब की आस पूरी हो गयी, इतना मादक स्वाद आज तक मेरे मुँह ने नहीं चखा. ये मेरी बहू नहीं है, अप्सरा है अप्सरा. प्रदीप उठ, अब इस अप्सरा को दिखा दे कि इस जैसी सुंदर नाज़ुक नार को हमारे परिवार में कैसे भोगा जाता है, चल उठ, तेरा पेट भी भर गया होगा, अब चढ जा इस चाँद के टुकडे पर फिर उन्होंने मुझे पलटा दिया और ऊपर उनके मूंह के पास कर दिया. मुझे ऊपर कर के मेरी चूत को चाटने लगे. पापा का लंड मेरे सामने था. मैं भी उनके लंड को चूसने लगी. वो खड़े खड़े ही मुझे 69 पोजीशन में लेकर मजे उठा रहे थे.

मेरी गाण्ड के छेद में लण्ड का घर्षण होने लग गया था। मैंने नाटक करते हुये अपनी दोनों टांगे चौड़ी कर दी। मुझे वास्तव में आनन्द आने लगा था।अभी मेरा गाण्ड का छेद तो प्यासा था ही ... சப்போட்டா பழத்தின் நன்மைகள் प्रीतम से मेरा परिचय पहली बार तब हुआ जब मैं शहर में कॉलेज में पढ'ने के लिए आया. हॉस्टिल में जगह ना होने से मैं एक घर ढूँढ रहा था. तब मैं सोलह वर्ष का किशोर था और फर्स्ट एअर में गया था. शहर में कोई भी पहचान का नहीं था, इस'लिए एक होटेल में रुका था.

क्सक्सक्स वोइडो

  1. मैंने उसको अपना लंड चूसने के लिए कहा तो उसके ऐसे मुँह में लिया जैसे कोई आइसक्रीम खा रहा हो। बड़ी मस्ती में वो मेरे लंड को चूस रही थी।
  2. अलमारी में से यह सब देख कर मेरी चूत पानी पानी हो गयी थी. मैने दो उंगलियाँ चूत में डाली हुई थी और मैं लातें चौड़ी कर के अपनी चूत को रगड़ रही थी. एक्स एक्स वीडियो न्यू
  3. दोनों एक दूसरे को देखकर हँसने लगते हैं कि तभी वहाँ सोनिया भी आ जाती है। सामने बैठे जीशान को देखकर उसके चूत और आँखों में चमक आ जाती है। रजिया-अमन, मैं जानती हूँ कि वो हमारे साथ हुआ वो बहुत बुरा हुआ। मैं पिछले तीन महीने से देख रही हूँ कि तुम फैक्टरी जाते हो और फिर अपने रूम में बंद हो जाते हो। तुम अपने अब्बू का सपना पूरा करना चाहते हो पर एक सबसे बड़ी जिम्मेदारी वो तुम नहीं पूरी कर रहे हो उसके बारे में भी थोड़ा सोचो ना…
  4. சப்போட்டா பழத்தின் நன்மைகள்...जब मेने उसके लंड की तरफ देखा तो मुझे कुच्छ हुवा मेने फिर गोर से उसके लंड को देखा निक्कर का वो हिस्सा काफ़ी उठा हुवा था ... बंटी ने फिर कहा चाची जी हमे पता नही क्या हो रहा है अनुम और सोफिया उससे पहले ही जाग चुकी थीं। और सुबह के नाश्ते की तैयार करने में लगी हुई थी। लुबना घोड़े बेच के सो रही थी।
  5. रज़िया पीछे से लेने की शौकीन थी। अमन से भी ज़िद करके वो पहले पीछे के दरवाजे पर दस्तक करवाती थी। आज जीशान ने उसके दिल की मुराद पूरी कर दिया था। जीशान अपने दाँत पीसते हुये-कौन जीशान… मैं तुझे नहीं जानता, तू है कौन? और यहाँ क्या कर रही है? चल जा वरना मुझसे बुरा कोई नहीं होगा…

বাংলাদেশের ব্লু ফিল্ম ভিডিও

आज भी मैं और वो एक-दूसरे को बहुत याद करते हैं। लेकिन हम अभी भी ब्वॉय-फ्रेण्ड और गर्ल-फ्रेण्ड नहीं हैं।

नग़मा वैसे ही करती है और सोफिया उसे अपने नीचे लेकर उसकी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसती चली जाती है। जब थोड़ी देर बाद दोनों अलग होते हैं, तब नग़मा की आँखें लाल हो चुकी होती है और उससे कुछ बोला भी नहीं जाता। ईद का दिन अपने साथ कई खुशियाँ लेकर आया था। सुबह से पूरा खानदान इसकी तैयारी में लगा हुआ था। पर लुबना और जीशान के लिए तो जैसे आज का दिन रोज की तरह ही नजर आ रहा था।

சப்போட்டா பழத்தின் நன்மைகள்,जीशान के चेहरे पे अजीब से भाव थे। वो एकटक अनुम को देख रहा था। जब अनुम की नजरें जीशान से मिलती हैं तो कुछ पल के लिए दोनों खामोशी से एक दूसरे को देखे जाते हैं।

अब बहू को स्नान कर'ने दो, सॉफ होने दो. बाद में इसे इस घर के तौर तरीके सीखा देंगे. एक टाइम टेबल भी बनाना है. प्यारी आ'टी होगी. उसे कहूँगी बहू को नहला दे. किसीने बाथ रूम का दरवाजा खटखटाया. माजी बोली.

अनुम अमन के होंठ रज़िया के होंठों से अलग करके अपने होंठ अमन से मिला लेती है-और मुझे ये बहुत याद आ रहे थे गलप्प्प गलप्प्प…यूट्यूब मेट डाउनलोड 2020

अमन अपने मकसद में कामयाब हो गया था। उसे रजिया की बात याद थी कि अगर किसी कुँवारी चूत को चोदना है, तो पहले उसकी माँ को उस लड़की के सामने जमकर चोदो। वो लड़की जल्दी तैयार हो जाएगी। अब क्या पूछते हो… जो दिल करे, कर लो… अब जब लौडा निकाल ही दिया है तो समझो लाइसेंस दे दिया है… अब क्या पूछना…

वो उसपर कुछ ख़ास ध्यान नहीं देता है और खाना खाने लग जाता है। खाना खाने के बाद सभी अपने-अपने कमरे में चले जाते हैं।

इससे पहले कि अमन सोफिया के बाकी के कपड़े उतारता उसका सेल फोन बजता है। बौखलाहट में अमन बेड से खड़ा हो जाता है और जब वो सामने वाले को हेलो कहता है तो बौखलाहट खामोशी में बदल जाती है। कुछ देर बाद जब काल डिसकनेक्ट होती है तो अमन का सारा जोश, सारा जलजला रेत के तूफान की तरह गायब हो चुका था।,சப்போட்டா பழத்தின் நன்மைகள் वहाँ तक उस वक्त लुबना की आवाज़ गई थी या नहीं ? मगर उस वक्त वहाँ बैठे सभी लोगों के दिल लरज कर रह गये थे और ख़ासकर जीशान का।

News