ગુજરાતી સેક્સ કહાની

एपीजे अब्दुल कलाम माहिती

एपीजे अब्दुल कलाम माहिती, रामू अंदर वाले कमरे मे आ जाता है और वहाँ से आँगन की और खुलने वाली खिड़की जो बिल्कुल नीचे की तरफ थी और मेरी नज़रें तो जैसे खाला से चिपक गई थी.. खाला ने मेरी नज़रो को समझा तो खाला बोली.. अयान,,,,,, क्या देख रहे हो..

मैने रमिया को घोड़ी बना कर झुका दिया और उसकी गंद को खूब अच्छे से उपर की ओर उभार दिया फिर मैने अपने मोटे लंड पर तेल लगा कर उसे खूब चिकना कर दिया और पिछे से रमिया की चूत मे अपना लंड लगा कर उसकी मोटी-मोटी गंद को खूब कस कर दबोच लिया और ऐसा जोरदार धक्का उसकी चूत मे मारा कि रमिया ज़ोर से चिल्ला उठी, उधर रंभा ने टिकेट लिया था पंचमहल & फिर वाहा से डेवाले का लेकिन उसने पंचमहल से आगे की फ्लाइट नही ली.उसकी जगह बलबीर मोहन की कंपनी की 1 लड़की ने रंभा के टिकेट से सफ़र किया.अब कोई भी फ्लाइट रेकॉर्ड्स चेक करता तो यही समझता की रंभा डेवाले पहुँच गयी.

हम लोग आहिस्ता आहिस्ता आइस क्रीम खाने लगे. आइस क्रीम खाते खाते मेरे कानो मे कुछ अजीब सी आवाज़ आने लगी.. एपीजे अब्दुल कलाम माहिती ओईईईईईई..माआआअ..!,वो उसकी गर्दन से उठा & उसकी आँखो मे देखते हुए 1 धक्का लगाया.लंड जड तक समा गया & रंभा की कोख से टकराया.उसकी टाँगे खुद बा खुद विजयंत की कमर पे कैंची की तरह कस गयी & कमर अपनेआप हिलने लगी,..डॅड..1 बात बताइए...आन्न्‍न्णनह..!

हॉलीवुड का सेक्सी फिल्म

  1. याद आ जाती है की तेरी मा के चूतड़ बहुत मोटे-मोटे और गदराए हुए है दिल करता है ऐसे चुतड़ों को खूब कस-कस
  2. गान्ड और चूत चाट-चाट कर लाल कर देता है तब निम्मो सीधी खड़ी होकर अपनी एक टांग रामू की ओर बढ़ा देती है और गर्ल स्कूल सेक्सी वीडियो
  3. आइ लव यू डियर मनु... मैं तुम्हारी दीवानी हू... तुम्हारी शायरी की दीवानी... तुम्हारी हँसी की दीवानी तुम्हारे हर एक अंग अंग की दीवानी हू. राज- हरिया एक बात तो है जिन औरतो की जंघे खूब मोटी होती है पेट खूब उभरा हुआ रहता है और गंद काफ़ी फैली और मोटी होती है वह औरते चोदने मे बड़ा मज़ा देती है,
  4. एपीजे अब्दुल कलाम माहिती...मामा- बेटी किसी भी आदमी को सबसे ज़्यादा मज़ा उसकी खुद की मम्मी को चोदने मे आता है, मा को अपने बेटे का लंड लेने का बड़ा मन करता है और अपने बेटे के लंड को सोच-सोच कर खूब अपनी चूत मरवाती है, उफफफफफफ्फ़..हालत खराब कर देते हैं आप तो!,रंभा ने प्यार से उसे झिड़का,..तो उस से कुच्छ पुछा नही आपने?,उसकी आँखो मे अब ससुर के जिस्म के नशे के लाल डोरे दिख रहे थे.
  5. अपनी दीदी के पेरो की उंगलियो को सहलाते हुए कभी अपनी बहन की पूरी टांग उठा कर उसकी मस्त गुलाबी चूत को देखता है कभी उसकी टाँगे मोड़ कर और कभी एक दम से घाघरे के अंदर तक झाँक कर अपनी बहन की रसीली चूत की खुश्बू को सूंघने की कोशिश करता है, खाला के मम्मो के लाइट ब्राउन सर्कल के पास उपर एक तरफ 2 टिल थे... वैसे भी गोरी लड़कियों के जिस्म पर तिल बहुत अच्छा लगता है ऑर जब तिल ऐसी ख़ास जगह पर हो तो देखने वाला तो देखता ही रह जाता है. अब यही हालत मेरी भी ऐसी ही थी ऑर मैं भी उनके गोल गोल मम्मो के उपर कभी उस तिल को देखता ऑर कभी निपल को...

इंग्लंड का सेक्सी व्हिडिओ

मामू ने मुझे कहा कि तुम बाहर ना जाओ. खाला घर मे अकेली है. अब हम लोग जा रहे हैं दो दिन बाद आएँगे . जब तक तुम ने घर से बाहर नही जाना. और खाला का ख़याल रखना है. मैने खाला की तरफ देखा ऑर कहा कि मैं खाला का बहुत ख़याल रखूँगा .

हरिया- अरे इसमे क्या बड़ी बात है एक बार तू निम्मो को अपना मोटा लंड दिखा दे अब तो वह इतनी गदरा गई है कि तेरा लंड खड़े-खड़े ले लेगी, रामू अपनी मा के उपर चढ़ा कर उसके दूध दबोचते हुए उसकी चूत को कस-कस कर चोदने लगता है, सुधिया आह बेटे आह करती हुई नीचे से अपनी गान्ड उठा-उठा कर अपने बेटे के मोटे लंड पर मारने लगती है, रामू अपनी मा पर चढ़ा कर खूब कस-कस कर उसकी चूत कूटना शुरू कर देता है सुधिया अपनी दोनो टाँगो को उठाए

एपीजे अब्दुल कलाम माहिती,लेकिन दुपट्टा खींचना इतना आसान नहीं था… मैं वंदना के ऊपर यूँ औंधा पड़ा हुआ था कि मेरे सीने और उसके उन्नत उभारों के बीच दुपट्टा बुरी तरह से फंस गया था और जब मैंने उसे खींचा तो सहसा ही वन्दना का ध्यान उस तरफ चला गया और उसने मेरे होठों को चूसना छोड़ दिया और अचानक से हमारी निगाहें एक दूसरे से टकरा गईं…

तभी उसने सोचा कि वो भी फ़िल्मे बनाना शुरू कर दे ताकि जब मानपुर वाली ज़मीन उसके हाथो मे आए तो वाहा अपनी फिल्म सिटी बनाके वो विजयंत को 1 करारी हार दे.

हरिया- अरे बेटवा इन चीज़ो से किसी का कभी मन भरा है भला, अब तुमका देखो इस उमर मे तुमका एक मस्त चूत मिल जाना चाहिए तो तुम्हारे चेहरे पर कुछ निखार आए पर तुम हो की बस काम के बोझ के तले दबे जा रहे हो,बीएफ वीडियो सेक्सी बीएफ

तो आप क्यू जा रहे हैं वाहा अकेले?..ओईईईईईईईई..!,देवेन उसकी गंद मे उंगली घुसा रहा था & उसकी कमर अब तेज़ी से हिलने लगी थी. खाला... मैं एक शर्त पर जाउन्गी.... मैने पूछा कि कौनसी शर्त तो उन्होने कहा... तुम भी साथ चलो गे तो मैं जाउन्गी वरना नही जाउन्गी...

ललित बस थोड़े शर्मीले अंदाज से मुस्करा दिया. मैंने कहा तू भी चाहे तो फ़्री हो जा. वो नाइटी पहनने की जरूरत नहीं है. हां विग लगाये रखो मेरे राजा, क्या करूं, बड़ी प्यारी छोकरी जैसा लगता है तू विग पहन कर

आन्न्न्नह..मैं भी तुम्हारे बिना नही रह सकती,प्रणव..आइ लव यू,डार्लिंग!,प्रणव ने उठके उसकी बाई जाँघ को उठाया & फिर घुटने हुए उसके उपर आ गया.मस्ती मे चूर रीता ने उसे बाहो मे भर लिया & उसके धक्को का जवाब कमर उचका-2 के देने लगी.,एपीजे अब्दुल कलाम माहिती उसकी पेंटी उसकी गोरी और मस्त गंद की दरार मे फस गई और जब संध्या चलने लगी तो उसकी गंद बड़े मस्त अंदाज मे थिरक रही थी, तभी संध्या ने एक दम से अपनी गंद खुजलाते हुए फिर से पोछा करने बैठ गई और

News