కొత్త సెక్స్ వీడియో

मुळव्याध घरगुती उपाय

मुळव्याध घरगुती उपाय, हर लड़की उनकी तरह खुशकिस्मत नही होती ,मैं तो सुख छोड़ कर इस नरक में आयी थी लेकिन तुम्हारी बहन को तो इसी नरक में मजा आने लगा है ,वो भी बेचारी क्या करे उसने इतने बुरे दिन देखे है ,गरीबी देखी है शायद इन सब सुखों के सामने जिस्म का सौदा उसे छोटा ही लग रहा होगा … मैं कुछ बोलती इससे पहले मेरी चाल और कपड़े देखकर वो समझ गई कि मेरे साथ कुछ गलत हुआ है। वह मुझे अपने साथ कमरे में ले गई। चलते समय मेरी चूचियों की उछाल देखकर समझ गई कि मैं ब्रा नहीं पहने हूँ। रूम में पहुँचते ही उसने मुझसे सीधे-सीधे पूछा- किससे चुदवा कर आई हो रानी।

कालू : अच्छा एक बार चाची की मस्त चुत के दर्शन तो करवा दे, देख तूने तो काँटा निकालने के बहाने अपनी माँ की चुत को खूब फैला फैला कर देखा है एक बार हमें ही दिखा दे। इतने में उसने लिप गार्ड की पूरी ट्यूब मेरी गांड पर निकाल दी और लंड डालने की कोशिश करने लगा, मेरी कमर को पकड़ कर जोरदार धक्का मारा, लंड आधा अन्दर चली गया, मेरी तो दर्द से आवाज़ निकलनी बंद हो गई।

अगले आधे घंटे मेरी जो हालत हुई, मैं कह नहीं सकता. मैं रोता बिलखता रहा और मेरा पति हांफ़ता हुआ ऐसे मेरी मुळव्याध घरगुती उपाय मैं बोली- तुम जानते थे कि मैं ब्रा पेंटी नहीं पहने हूँ।तो वो बोला- बिल्कुल जानता थाजानू… मैं तुम्हें रोज देखता हूँ और तुम कभी कभी ही ब्रा पेंटी पहनकर आती हो।

bajaj किस देश की कंपनी है

  1. तभी एक 20-22 साल के लड़के ने शनि को पीछे से थपथपाया और बोला- भाई, ये क्या हो रहा है?शनि डर गया।वो लड़का पार्क का गार्ड था।शनि हकलाते हुए बोला- वो भाईई वो…
  2. अरे यार... अभी तो बहुत है... देख तेरी टाँगों के बीच में फर्श पर कितना पड़ा है, शाजिया ने बे-सब्री से नजीबा के सैंडलों पर से वीर्य चाटते हुए जवाब दिया। एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियोस
  3. उधर बाबा उसकी रट सुन रहे थे और फिर मुझसे कहने लगे अरे बेटा कल्लु दो दिनों के लिए बिटिया आई है जाता क्यों नहीं उसे मस्त मीठे आमो का रस तो चखा दे। अजय को पता नही क्यो लेकिन इतनी जलन सी महसूस हुई की वो वँहा से जाने को हुआ और इसी में एक गलती उससे हो गई वो दरवाजे से टकरा गया,अचानक ही मोगरा पलटी और जैसे दोनो की नजर मिल गई,..
  4. मुळव्याध घरगुती उपाय...चम्पा मायूस तो थी लेकिन फिर भी उसने अजय को पहले अपने बांहो में भर लिया और फिर उसके होठो में हल्का से चुम्मन दिया ….. कालू : नहीं माँ मुझे तैरना आता है तू कहे तो थोड़ा और बीच में जाऊ और कल्लु की दूसरी ऊँगली उसकी माँ की मस्त चुत के रसीले छेद में घुस गई।
  5. अभी कुछ नही बता सकती आप जल्दी जाओ ..और ये काम मोंगरा का नही हो सकता वो बुआ से बहुत ही प्यार करती थी ,ये काम जरूर ठाकुर ने किया होगा मगर उसका चूस नहीं पाते आप... कहते कहते उसने मेरे कंधों पर अपना एक हाथ डाल दिया तो उसके हाथ की गर्मी से मैं मचलने सा लगा और मेरी ठरक जग उठी!

बीपी सेक्सी बीपी सेक्स

मेरी हॉट और कातिल अदा को देखकर मेरे इंस्टीट्यूट में मुझे रेस्पेशनिस्ट का जॉब ऑफर हुआ लेकिन मैंने मना कर दिया क्योंकि मुझे उस टाइम पैसों में कोई इंटरेस्ट नहीं था, मुझे तो बस अपनी जवानी को एन्जॉय करना था किसी भी कीमत पर!

पढ़ते हुए उसका ध्यान एक दो बार मोना की चूचियो की और हुआ तो उसे लगा कि वो 'उभारों' का दीवाना है. मोना ने झट से उसकी सुनते सुनते अपनी शर्ट का बीच वाला एक बटन खोल दिया. इसी तरह सब ऑल ईज़ वेल हो गया….रश्मि और राजेश फिर साथ रहने लगे……राज को एक और शिकार मिल गया डॉक्टर. नेहा के रूप मे, स्मृति शादी के बंधन मे बँध गयी………….

मुळव्याध घरगुती उपाय,एक दिन अमित का फोन आया कि वह मुझे चोदना चाहता है.मैं थोड़े नखरे दिखाने लगी. लेकिन जल्दी ही मान गयी और मानती भी क्यों ना, मेरी चूत में खुजली तो हमेशा ही रहती है.

मेरी चूचियों की दशा सारी दास्तान बयान कर रही थी। मेरी चूचियों पर अंकल ने कई जगह अपने दाँत चुभो दिए थे। जिसके निशान अभी बिल्कुल ताजे थे। फिर आभा ने पूछा- सच-सच बता किससे चुदी हो?

और अजय के बालो में उंगलियां फसाये सहलाती रही ,अजय के गालो में उसके आंखों का पानी आ टपका ,अजय उठ खड़ा हुआ और चम्पा के गालो को दोनो हाथो से पकड़ लिया और उसके गालो में अपने होठ लगा कर उसके आंखों से झरते हुए खारे पानी को अपने होठो से अंदर कर लिया …धंधा करने वाली लड़कियां

वो बलवीर को देखकर उसके सीने से लग गई और पूरी बात बता दी ..बलवीर गंभीर था लेकिन उसने रणधीर की ओर हाथ बड़ा दिया .. अरे वो डॉ चुतिया है उनका कोई भी भरोसा नही है ,पहले मैं उनकी सेकेट्री थी अब न्यूज़ चैनल की एंकर बना दिया है मुझे ,कहते है की पहले मोंगरा की स्टोरी लाओ उसके जीवन में जो हुआ उसे दुनिया को दिखाना जरूरी है

आख़िर चाची उठीं और खाना बनाने लगीं. मैं बाहर के कमरे में जाकर किताब पढने लगा. अपनी उबलती वासना शांत करने का मुठ्ठ मारने के सिवाय कोई चारा नहीं था इसलिए मन लगाकर जो सामने दिखा, पढता रहा. कुछ समय बाद चाची ने खाने पर बुलाया और हम दोनों ने मिल कर बिलकुल यारों जैसी गप्पें मारते हुए खाना खाया.

आइडिया बुरा नहीं है... तेरे ऊपर ही मूत देती हैं... साली हरामजादी... तेरे मुंह में भी मूतूगी अब तो... याद है ना रैगिंग में कैसे फ्रेशर लड़कियों को तूने अपना मूत पिलाया था... नजीबा जोर से हँसी।,मुळव्याध घरगुती उपाय रश्मि: हवा नही घूर रहा है…कि घर मे कौन कौन है…किसका दरवाजा खुला है….. ……जिसे देख कर मेरा दरवाजा भी खुलने को तैयार है.

News