पेशी वाढवण्यासाठी उपाय

सेक्स में सेक्सी

सेक्स में सेक्सी, तभी राकेश को लगा की गालों की पप्पी में क्या रखा है.. अगर इसका विस्वास जीत लिया तो कल परसों में सारी ही आ गिरेगी बाहों में.. उसने उसकी गालों के करीब आ चुके अपने होंट वापस खींच लिए, मैं तो मज़ाक कर रहा तहा.. चलो चलते हैं... तब तक राज कागज को पत्थर समेत लपक चुका था.. जैसे ही उसने कागज को खोला.. उसका दिल धड़क उठा... ये तो कमाल ही हो गया.. उसने तो सीधे सीधे घर पर ही बुला लिया था.. वो भी अभी.. रात को.. ओह माइ गॉड! मुझे नही पता था की 'वो' ऐसी लड़की है.. राज मॅन ही मॅन सोच रहा था...

वो तो तुझे पूच्छना चाहिए था.. एक बात बटाओ? रिया ने इस अंदाज में अपने होंटो को गोल करके कहा मानो वह बहुत बड़ा राज खोलने वाली है... ये वही समय था जब दिव्या की रूम मेट सभी लड़कियों को जगा कर ले आई थी... दोनो कमरों में चल रहा वासना का नंगा नाच फ्री में दिखाने के लिए....

सिमर दीदी ने अपनी सास के गले में बाँहें डाल दीं और उनका मुँह चूमने लगीं जीजाजी और जेठजी उनके पास में बैठ कर दीदी के शरीर को सहलाने लगे दोनों ने एक एक मम्मा मुँह में लिया और दबाते हुए चूसने लगे रजत ने दो उंगलियाँ दीदी की चूत में डाल दीं दीदी अब अपना मुँह खोल कर शन्नो जी की जीभ चूस रही थी सेक्स में सेक्सी भाई.. आपको दिशा से डर लगता है ना.. बोल दो लगता है.. मुझे तो वैसे भी पता है..? विकी ने शरारती ढंग से मुस्कुराते हुए कहा..

हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म

  1. ड्राइवर??? आप.. लगभग वही प्रतिक्रिया स्नेहा की थी.. जो कुच्छ देर पहले गेट्कीपर प्रदर्शित कर चुका था... फिर संभालते हुए उसने अपनी गाड़ी को पहचाना और बोली, गाड़ी अंदर ले आओ..!
  2. ohh.. ye sawaal.. ye toh bahut hi aasan hai.. baag baag ho uthe Vasu ne uske hath se kitab lete huye kaha.. uski tirchi najar ne bus ek baar Neeru ki chunni mein chhipi huyi uski gol chhatiyon ke beech se jhalak rahi thodi si magar kamuk khayi ko nihara, kahan samajhaaun? नंगी फिल्म हिंदी
  3. ठीक है साहब.. बॅग में 500 की गॅडडीया देखकर मोहन की आँखें चमक उठी, साहब.. वहाँ आज ही जाना है.. मॅ'म साहब को लेने... गौरी का हाथ उसकी चूत के दाने पर चला गया... जैसे जैसे मूवी चलती गयी... उसकी उत्तेजना बढ़ती गयी और वो अपने दाने को मसल्ने लगी; आज तक उसने अपनी चूत में उंगली नही डाली थी... शी वाज़ ए वर्जिन... टेक्निकली!
  4. सेक्स में सेक्सी...कुच्छ देर बाद राज टफ के कमरे में आया..., उसने देखा एक और लड़की खड़ी है दीवार से लगकर ... वो रो रही थी... , कामना, अपने रूम में जाओ! माफ़ तो तुम मुझे कर दो.. मैं भी दूसरों के जैसा हूँ ना.. बदतमीज़..! राज का गुस्सा तो उसकी पहली रिक्वेस्ट पर ही पिघलने लगा था.. अब तो वह सिर्फ़ दिखावा कर रहा था.. प्रिया को अपने लिए तड़प्ता देख राज को बहुत सुकून मिल रहा था...
  5. आ तुम पागल हो क्या? एक भी बात का सीधा जवाब नही देते.. मैं तो खुश हो गयी थी.. तुम्हे देखकर.. की पहली बार कोई ढंग का ड्राइवर भेजा है.... तुम हो की......., ओईईईई मुंम्मी.... ये यहाँ कैसे...? आधे घंटे मैं वैसे ही पड़ा था फिर से लंड सनसना रहा था और बहुत तकलीफ़ दे रहा था लगता था कोई भी आए और किसी भी तरह से मुझे चोद जाए

नंगा लड़की का फोटो

बेटी! ये तुम्हारे स्कूल के नये मास्टर जी हैं.. अंजलि मेडम के कहने पर हुँने सोचा, चलो ख़ालीपन तो नही रहेगा घर में.. बहुत ही शरीफ और नएक्दील लड़का है बेचारा.... मम्मी ने शमशेर को पानी देते हुए कहा...

क्या बोलू का क्या मतलब... बस बोलो.. कुच्छ भी! वाणी ने उसकी नज़रों को खुद में भटक'ते हुए देखा तो इतराते हुए उसके स्वर में नारिसूलभ पैनापन आ गया.. अंजलि ने अंदर आते ही टफ का इंट्रोडक्षन करवाया, ये हैं सब इनस्पेक्टर इन क्राइम ब्रांच, भिवानी! राज के...!

सेक्स में सेक्सी,अचानक जब टफ से सहन करना बर्दास्त के बाहर हो गया तो उससने अपना लंड सरिता के हाथो से छीना और और अपने सामने पड़ी चूत में सर्ररर से घुसा दिया..

आबे बस्ती के बच्चे.. उस'से कोई ढंग का रास्ता भी तो पूच्छ सकता था तू.. यहाँ से क्यूँ लाया? नितिन की आँखें भी आगे पिच्छले रास्ते के मुक़ाबले बेहतर सड़क देख कर चमक उठी....

तू क़ोठरे ( खेतों में बना हुआ कमरा) में चल.. और मेरा समीज़ पहन ले.. मेरी छाती सूखी हुई है... चंचल ने रास्ता निकाला...सर बहु की चुदाई

स्नेहा खून का घूँट पीकर रह गयी.. उसको अपने पापा का गुस्सा अपनी असफलता पर खीज का परिणाम लगा.., वो इश्स वक़्त यहाँ नही है...? उसके फोन की बॅटरी ऑफ है... ये इतना बड़ा हो जाता है क्या, बड़ा होने पर, वो सोच रही थी.... उसकी सखटायी, लंबाई और मोटाई को अपने हाथों से सहलाकर महसूस करने लगी! शमशेर के होंट अभी भी उसका दूध पी रहे थे; जो उन्न मादक छातियो में था ही नही...

वाणी ने भी मनु को देख लिया था.. अब आँखें बंद करके अपनी सदाबहार मुस्कान को चेहरे पर ले आई थी.. वो समझ रही थी की मनु उसको देखकर ही बाहर आया है.. ऐसे में प्यार की तड़प से भरे अपने दिल को काबू में रख पाना उसके बस का कहाँ था..

उपर वाणी का बुरा हाल था. जो कुच्छ भी थोड़ी देर पहले हुआ वा तो जैसे स्वर्ग में जाकर आने जैसा था. उसको चुपचाप देखकर दिशा ने धीरे से पूचछा, क्या हुआ वाणी!?,सेक्स में सेक्सी आप इतने गुस्सैल क्यूँ हो.. ? सब आपसे डरते हैं.. ऐसे बोलॉगे तो मैं आपसे बात नही करूँगी हां.. वाणी ने अपनी कलाई सहलाते हुए बनावटी गुस्से से वीरू की और देखा और हंस पड़ी.. उसकी हँसी ही तो सबकी जान थी... वीरू बिना मुस्कुराए ना रह सका...

News