प्रिया भाभी की सेक्सी वीडियो

बुद्धी औरत की चुदाई

बुद्धी औरत की चुदाई, काम तो पता लग ही जाएगा तुम्हे ...लेकिन सबसे जरूरी चीज ये है की तुम किसकी बात मानते हो ...अपने काजल की ,या अपने बहनों की जिसपर तुम जान छिड़कते हो ,या शबनम की जो की एक पक्की रांड है और पैसों के लिए कुछ भी कर सकती है,या उस मोहनी की जो खान की रंडी है ...या मेरी रोहन : हां तो निकल जाने दो ना अपने पिशाब को मेरे मूह मे... मूत दो अपने बेटे के मूह मे... मैं तो कब्से तरस रहा हूँ... अपनी माँ का अमृत जैसा पिशाब पीने के लिए...

दीवानो के तो दिलों में छुरिया चल गयी जब उसके गांड के चाँद जैसे गोरे-2 कटोरे उस काले बदल से बाहर निकले.और अगले ही पल वो पूरी नंगी होकर सभी के सामने खड़ी थी. निशा के चहरे में एक जहरीली सी मुस्कान खिल गई थी ,और काजल जैसे जल रही हो ,पसीने से भीगी हुई सर नीचे किये बस खड़ी रही थी

मैं जानती हु ये कितना डरावना हो सकता है लेकिन मुझे उम्मीद है की तुम इसे इन्जॉय करोगे ,सोचो आज तो तुम्हे पता नही था की मैं क्या करने वाली हु .लेकिन अगर ये तुम्हारी इजाजत से हो तो बात ही कुछ और होगी.. बुद्धी औरत की चुदाई इंद्राणी ने जोरदार चीख मारते हुए अपना सीना हवा मे उठा लिया और उसके सिर को पकड़ कर अपने अंदर खींच लिया...

ಸೆಕ್ಸ್ ಬಿಎಫ್ ಇಂಗ್ಲಿಷ್

  1. मैं: (भाभी के आंसू पोछते हुए) ये तो उसने बहुत गलत किया, मैं आज शाम में ही उसे हटा देता हूँ। मेरी गाय को मारा उसने!
  2. फिर रजनी राज को बच्चा पैदा करने के सही दिन वक्त और तरीके के बारे में बताने लगती है… और वो वक्त जल्द ही आने वाला है… देसी मुर्गा डॉट कॉम
  3. इतना कहकर वो बाहर निकल गयी....राहुल समझ गया की ये दोनो की मिलीभगत है...लेकिन जो भी था उस मिलीभगत की वजह से उसके हाथों में आज की सबसे सेक्सी दिखने वाली औरत थी...जो उसकी बाहों में जल बिन मछली की तरह मचल रही थी....और राहुल को अच्छी तरह से पता था की उसकी इस तड़प को कैसे मिटाना है... उन्होंने जो किया वो तो हर भाई करता ,और वो दुनिया में सबसे ज्यादा प्यार भी तो तुमसे ही करते है …काजल के चहरे में एक मुस्कान खिली ,वही मुस्कान पूर्वी के चहरे में भी थी ..
  4. बुद्धी औरत की चुदाई...अरे वही मैने बताया ना था तुझे, जिसके साथ उनकी चलती थी. सबसे पहले जब वो 8 मे पढ़ते थे, उसकी गान्ड मारी थी और फिर 4 साल तक...उसी से मेरी सहेली अंजलि की शादी हो गयी थी. अपने भतीजे मुंह से मरने की बात सुन के रजनी गुस्से में उठी और उसने अपने भतीजे गाल पे ज़ोर का थप्पड़ मारा…
  5. सबा भी मुस्कुराती हुई उठ बैठी...उसका चेहरा देखने लायक था, पूरे चेहरे पर सुमन भाभी की चूत का रस लगा हुआ था, जैसे देसी घी उसके चेहरे पर रगड़ दिया हो...सबा बड़े मज़े से उस रस को अपनी उंगलियो पर इकट्ठा करके चूस रही थी.. दोनों डूबे थे मस्ती अपने चरम में थी मैं निशा के ऊपर उछले जा रहा था और वह अपने कमर को मेरे कमर से मिलाने की पूरी कोशिश कर रही थी, निशा ने मुझे नीचे पटक दिया और मेरे ऊपर आकर अपने कमर को हिलाने लगी..

मां बेटे की सेक्स

शाम को राजीव थोड़ी देरी से आए लेकिन आते ही उतावले हो गये. हम लोगों ने जल्दी डिन्नर किया और उपर जाते हुए वो बोले, हे जल्दी आना. उनकी बेताबी देख के वो अपनी मुस्कान नही रोक पाई. जल्दी काम समेट के मैं दूध का एक ग्लास लेकर अपनी ननद के कमरे मई गयी. वो बोली,

राहुल ने अपने होंठ दांतो के नीचे दबाते हुए कहा : तुम भी तो देख रही हो...सरदारजी को ऐसे ... नंगा ......मैने मना किया क्या...'' वो दोनों हाथ से ग्लास पकडे थी की उनका लाल रंग पुता हाथ पहले इस कमसिन किशोरी के चिकने गाल और जब तक वो समझे सम्हाले. ...सीधे ब्रा के अन्दर घुस के उस के उभारों को लाल. ...कुछ रंग से कुछ रगड़ से. ...बिचारी के दोनों हाथ तो फंसे थे. ...और राजीव ने एक हाथ से कास के उसकी पतली कमर पकड़ रखी थी।

बुद्धी औरत की चुदाई,तभी पार्किंग के सुने सुनसान से जगह में कोई आता हुआ दिखा ,मुझे लगा की कोई गार्ड होगा लेकिन ये कोई दूसरा ही आदमी था ,मैं थोड़ा डर गया ..

मैने बाजी के बालों को सहलाया बाजी आप कहाँ जा रही थी? क्या उस शैतान में इतना खीचाव है जो आप अपने भाई को एक बार फिर अकेले छोड़के जा रही थी क्यूँ बाजी क्यूँ?......

राहुल: (उतेजना से भर रहा था, उसके सामने उसकी गदराई बहिन को पहले मैं फिर आभा मसल रही थी) हाँ, पर अब भाभी अच्छी लगती हैं। लगता है आप दोनों के मसलने की वजह से ही है (राहुल अब सीधे खुल गया था, भाभी के चेहरे पे डर था राहुल को देख के)ലൈംഗികവേഴ്ച വീഡിയോ മലയാളം

भेड़िया ने उन पिशाचो को काट खाया था..उनका काम तमाम कर चुका था....आसिफफ्फ़ आसिफफफ्फ़.....बहुत देर हो चुकी थी....भेड़िया बनके आसिफ़ जंगल की झाड़ियो से गुज़रता हुआ दूर जा चुका था...अगर वो उसे महल ले गया तो आसिफ़ की बेहन को बचाया नही जा पाएगा..........लूसी ने चार्ल्स की ओर देखते हुए कहा... रजनी : पर बेटा चूत के होठों पे लिपस्टिक लगाने से क्या फायदा… ना ही वो किसी को नज़र आते हैं और ना ही मैं उन्हें किसी गैर को दिखा सकती हूँ…

अगले दिन राजीब बहुत सुबह ही चले गये थे। जब मैं बेड-टी लेकर गुड्डी के पास पहुँची तो वो बिना कुछ पहने लेटी थी। बेड-टी के बाद, उसने कपड़े पहनने की कोशिश की पर मैंने मना कर दिया। मैं बोली-

और उसकी ड्रेस कमर तक नीची कर के,उसकी ब्रा से दोनों कबूतरों को मैने आज़ाद कर दिया और दोनों को बारी बारी से चूसने लगी. थोड़ी देर मे ही वो सिसकिया भर रही थी.,बुद्धी औरत की चुदाई अब कल की गेम की डिस्कशन होने लगी...डिंपल ने खाना लगा दिया था...सभी खाना खाते हुए अगले दिन की गेम के बारे में बाते करने लगे...जो कपूर साहब के घर पर थी.

News