चोदा चोदी वीडियो कॉलिंग

हार्दिक शुभेच्छा होळी

हार्दिक शुभेच्छा होळी, उस वक्त ज़ाहिद का कमरा उस के बेड की चादर पर बिखरे हुए फूलो और बिस्तर के इरद गिर्द लटकी हुई गुलाब और मोतिए की लड़ियों की खुश्बू से पूरी तरह महक रहा था. साथ ही साथ ज़ाहिद ने शाज़िया के पास ही बिस्तर पर अपने घुटनों के बल खड़े हो कर पहले अपनी कमीज़ को उतारा और फिर साथ ही अपनी शलवार को जल्दी से नीचे कर दिया.

इस थॉंग पैंटी की सामने वाला कपड़ा बहुत ही छोटा होने की वजह से रज़िया बीबी के मोटे फुडे के अंदर जा कर फँस गया था. ज़ाहिद की कार के शीशे टिनटेड थे. इसीलिए ज्यों ही ज़ाहिद ने अपनी कार को पिंडी से बाहर निकाल कर मुर्री हाइवे पर डाला.

कुच्छ नही.. एक मिनिट.... लाइट ऑन कर लूँ क्या? बिना देखे मुझे उतना मज़ा नही आ रहा... मम्मी ने खड़ा होकर कहा... हार्दिक शुभेच्छा होळी यह कहते ही जमशेद ने अपनी बेहन के गुदाज चुतड़ों पर हाथ रख कर उस की गान्ड को ऊपर उठाया और दुबारा अपने मुँह के नज़दीक किया और अपने मुँह को फिर नीलोफर की चूत पर लगा दिया.

देहाती सेक्सी वीडियो गांव वाला

  1. अपनी बेवा की ज़िंदगी के दौरान ज़ाहिद के अब्बू रज़िया बीबी को बिस्तर पर सीधा लेटा कर हमेशा एक ही तरीके से उस की चुदाई किया करते थे.
  2. तो आप को आप की कोख ने आप के जवान खाविंद के गाढ़े वीर्य को फॉरन अपने अंदर कबूल कर लिया, और इस कबोलियत का नतीजा अब आप की प्रेग्नेन्सी की शकल में आप के सामने है रज़िया बीबी को तफ़सील से सारी बात समझाते हुए डॉक्टर बोली. बाप बेटी की सेक्सी
  3. इस दोरान ज़ाहिद और रज़िया बीबी को ज़ोर की भूक लग रही थी. इसीलिए ज़ाहिद के काम से फारिग होते ही दोनो माँ बेटा एक रेस्टोरेंट में खाना खाने बैठ गये. ज़ाहिद बेटा में अपनी किसी पुरानी जानने वाली औरत की तबीयत का हाल जानने एक हॉस्पिटल में आई हुई हूँ,अगर हो सके तो रास्ते से मुझे भी पिक कर लो रज़िया बीबी ने अपने बेटे ज़ाहिद से कहा.
  4. हार्दिक शुभेच्छा होळी...रज़िया बीबी भी ज़ाहिद के मोटे लंड को पीछे से अपनी चूत में ज़ोर ज़ोर से आते जाते महसूस कर के मज़े से चीख पड़ी हाईईईईईईईई मर गैिईई,तुम्हारा ये लंड है या बिजली का खंबा.,मेरे गले तक उतर गया है, तुम्हारे इस लंड ने तो मुझे पागल बना दिया है,और चोदो अपनी बीवी को और ज़ोर से मेरे जवान खाविंद ज़ाहिद जानता था.कि इस का ये मकसद उस वक्त तक नही पूरा हो सकता.जब तक वो अपनी सोई हुई बहन के जिस्म के ऊपर चढ़ कर उस की गरम फुद्दि से अपने जवान मोटे लंड को रगड़ रगड़ कर अपनी बहन की चूत को गीला ना कर दे.
  5. अब अपने कमरे में वापिस लोटने वाली शाज़िया वो नही रही थी. जो आज सुबह अपनी मोहल्ले वाली सहेली की शादी में जाने से पहले थी. अपने घर के बरांडे में बिल्कुल नंगी होते ही शाज़िया दबे पाँव अपनी अम्मी के कमरे में दाखिल हुई. और आहिस्ता आहिस्ता चलती हुई बिस्तर पर अपनी आँखे बंद किए पड़ी हुई अपनी अम्मी के पास खड़े हो कर खामोशी से अपनी अम्मी के मोटे और भारी वजूद का करीब से जायज़ा लेने लगी.

सेक्स बीपी सेक्स बीपी

अचानक मम्मी पर मानो पहाड़ सा टूट पड़ा... जल्दी में सुन्दर के कंधे से पैर हटाने के चक्कर में मम्मी लड़खड़ा कर गिर पड़ी... उपर से पापा ज़ोर ज़ोर से बड़बड़ाते हुए आ रहे थे...,साली, कमिनि, कुतिया! कहाँ मर गयी....?

मेरे लंड का गरम पानी आप की बच्चे दानी को सेराब कर चुका है और आप हैं कि अभी तक मुझ से शर्माए जा रही हैं अम्मी ज़ाहिद ने अपनी अम्मी से कहा. और इस के साथ ही अपनी अम्मी के मोटे होंठो पर अपने दाँतों से काट लिया. शाज़िया ने किसी शायर के कहे हुए इस शेर को मोके की मुनासबत से ज़ाहिद की साल गिरह के हवाले से तब्दील करते हुए अपने भाई से कहा.

हार्दिक शुभेच्छा होळी,अम्म्मिईीईई ऐसी बातें ना करो मुझे शरम आती है अपनी अम्मी के मुँह से पोते की फरमाइश सुन कर शाज़िया अपना मुँह शरम से अपने हाथों में छुपाते हुए बोली.

तुम्हे पहले छ्चोड़ कर आउ या बाद में साथ चलोगि... वह इस तरह बात कर रहा था जैसे पिच्छली बातों को भूल ही गया हो.. किस तरह मुझे तड़पति हुई छ्चोड़ कर चला आया था घर से... पर फिर भी मुझे उसका मुझसे उस घटना के बाद 'डाइरेक्ट' बात करना बहुत अच्च्छा लगा....

नहियीईईईईईईईईई मुझे पता है कि अगर एक दफ़ा मेने अप के लंड का मोटा टोपा भी अपनी चूत में ले लिया, तो फिर मुझे पता है कि आप का पूरा लंड अंदर लिए बिना मुझे चैन नही आएगा भाईईईईईईईईईईज़ाहिद की बात सुन कर शाज़िया बोली.अनुष्का शेट्टी xxx

मैने सिर्फ़ सलाह दी है.. बाकी तुम्हारी मर्ज़ी...! उसने सिर्फ़ इतना ही कहा और अपनी नज़रें मुझसे हटा ली..... अपने भाई को यूँ पीछे से अपने बदन से चिपकते हुए पा कर शाज़िया को बहुत ज़्यादा शरम महसूस हो रही थी.इसीलिए वो अपने आप को भाई से परे कार्नर के लिए आगे की तरफ खिसक रही थी.

आज क्यों न ज़ाहिद के घर वापिस आने से पहले ही में गुसल (शवर) कर के पाक हो जाऊ,और काम से लोटने पर अपने जानू को सर्प्राइज़ दूं अपने बिस्तर पर लेट कर अपने बच्चो को अपने भारी मोटे मम्मो से अपना दूध पिलाने के बाद शाज़िया ने अपनी गरम चूत पर हाथ रखते हुए सोचा.

रज़िया बीबी के सामने ज़ाहिद आज एक बेटे के रूप में नही बल्कि पहली बार एक असली थाने दार पुलसिया के रूप में ज़ाहिर हुआ था. और रज़िया बीबी अपने बेटे का ये रूप देख कर ख़ौफ़ से कांप गई.,हार्दिक शुभेच्छा होळी साथ ही साथ ज़ाहिद ने अपनी बहन के बड़े बड़े मम्मो को पीछे से अपने हाथ में पकड़ते हुए शाज़िया के निपल को मसल्ने लगा.

News