बीएफ पिक्चर हिंदी में फुल एचडी

गाओं की देसी चुदाई

गाओं की देसी चुदाई, लेकिन चल जरा पानी वानी लाती हूं...व्ररना ननद रानी क्या कहेंगी की होली में आई और भाभी ने पानी भी नहीं पूछा। डिज़िल्वा सोच रहा था की कैसे मैं अब कुछ भी कहे बिना उसके साथ सेक्स करने लगी थी. ऐसी सोलह साल की जवान लड़की, वो भी इतने उचे घराने की. उसने ज़िंदगी में इतनी खूबसूरत लड़की नहीं देखी थी बिल्कुल कटरीना कैफ़ जैसी. और अब वो लड़की वो जब चाहे इस्तेमाल कर सकता था उसे अपने नसीब पे विश्वास नहीं हो रहा था.

रज़िया बिना कहे मंडी हां मे हिलाते दूसरा नीवाला अपने आप उठाके हरी को खिलाते बोली, चाचा वो इलाज और यह नाइटी के संबंध के बारे मे बताओ ना अब जो मैने आपकी बात मान के आपको खाना खिलाने लगी हूँ. अरे तेरे ननदोई का तो एक दम खडा है और वो आज आये भी हैं इसलिये की सलहज कॊ अपनी पिचकारी का दम दिखायेंगें।

मैं उसके उपेर चढ़ कर उस पर बैठ गया मेरा खड़ा लंड देख कर उसने आँख बंद कर ली पर उसका हाथ मेरे खड़े लंड पर आ गया ... मैं समझ गया माल तय्यार है..... मैने उसकी पॅंटी उठाकर उसकी नाक पर रख दी... गाओं की देसी चुदाई मेरे मनुता.... मुझे कोई ऐतराज नही है... यदि तुम मेरे से छिपाते तो ऐतराज होता.. फिर तुम्हारी भावनाए तो पवित्र है... मुझे ख़ुसी है मेरा पति हर किसी को ख़ुसी दे सकता है

ஜிமிக்கி கம்மல் மாடல்கள்

  1. एक तो हमलोग कम रह गये थे, दूसरा उनका भाव देख के हम डर से तितर बितर हो गये| थोड़ी देर में मैंने देखा तो मैं अब गाँव के एकदम बाहरी हिस्से में आ गई थी|
  2. ससुरजी और सुभाष के बैठे हुए लंड अब मेरे सामने थे. दोनो पूरे गीले थे.ससुरजी ने सुभाष से कहा ‘सुभाष बेटे ज़रा अपनी मम्मी का मूह खोलो,हमने उसको सिखाना हैं कि लंड को कैसे ठीक तरह से सॉफ करते हैं’ मुंबई महाराष्ट्र लाइव न्यूज़ मराठी
  3. मीता ने लाख सर पटका , लेकिन मेरा भाई उसके मुंह में ही झड़ा , झड़ता रहा और जब निकाला , तो सुपाड़े में लगी मलायी , उसके गालों और चूंचियों पे पोत दी। शिवि कहा है... मैने उसे बगल वाले कमरे मे भेज दिया है जहा वो थोड़ा और सो ले और फिर तय्यार होकर 1-2 घंटे मे आएगी...
  4. गाओं की देसी चुदाई...संगीता- अपने भैया की आँखो मे देख कर थोड़ा मुस्कुराती है और जब अपनी नज़रे नीचे करके उसके लंड को देखती है तो थोड़ा शरमाते हुए, भैया छ्चोड़ो ना और अपना हाथ छुड़ाने लगती है और मेरे हाथ में गुलाल भरा एक बड़ा सा कंडोम था जो , जब तक चमेली भाभी सम्हले , घचाक से मैंने उनकी बुर में पेल दिया।
  5. सरोज: साली जूठी ये कैसी बू आ रही है और यह तेरे बिस्तर की हालत देख कोई भी कह सकता है की यहाँ तू अकेली नहीं…, बोल कोन था तेरे साथ…???? बोलदे वरना मुझसे बुरा कोई ना होगा. चमेली भाभी के हाथ अब रवि के छोटे छोटे लेकिन खूब कड़े मस्त चूतड़ों पे था और उन्हें जोर जोर से भींच रहा था , दबोच रहा था। और जैसे ये काफी ना हो , उन्होंने अपने गीले पेटीकोट से झांकती , चुन्मुनिया को भी रवी के चड्ढी फाड़ते तन्नाये लिंग पे रगड़ना शुरू कर दिया।

मराठी शेअर चॅट व्हिडिओ

करीबन आधे घंटे तक मैं मन्त्रों का जाप करने का नाटक करता रहा और मैंने सासूजी से कहा- मुझे लगता है कि जिस निष्ठा से आप ये पूजा कर रही हो.. उससे लगता है कि ज्योति के यहाँ आने से पहले ही उनके ससुराल वाले.. सामने से उसे लेने यहाँ आ जाएंगे।

‘अपनी आँखें खोल के रख’ मैने अपनी आँखें खोल दी. इतना घिनोना नज़ारा मैने आज तक नही देखा था. मेडम नीचे मुझे देख मुस्कुरा रही थी और मुझे उसके सड़े हुए दाँत दिख रहे थे. एक तो इतनी बदसूरत औरत और उतना ही बदसूरत उसका नंगा शरीर. और में ज़मीन पे लेटी रोते रोते उसकी चूत ज़ॉरो से चाट रही थी. मैने बड़ी अदा से मुस्कुराते हुए कहा शिवानी जी इसका जवाब मे इस रिज़र्वेशन सेंटर से बाहर निकल कर दूँगा यदि आप पर्मिट कराईं तो` और मैने उसके सवालिया नज़रों से देखा.....

गाओं की देसी चुदाई,ठीक है तुम मीना की चाटो. मैं फिर मीना की चूत चाट'ते हुवे उसकी चूचियाँ दबाने लगी तो रमेश से नंगी चूत सहलवाने मैं ग़ज़ब का मज़ा आने लगा. अभी रमेश ने मेरी चाटना शुरू नही किया था पर उंगली से ही हल्का पानी बाहर आया तो वह मेरी फटी चड्डी से मेरी चूत को पोछ्ते पूरी चूत को सहलाता अपनी बहन से बोला,

आरती तो दिल से चाहती ही थी कि वो ये ड्रेस पहने,पर मनु के कारण थोड़ा सा शर्मा रही थी,पर जब रमण ने कन्विन्स किया तो वो मान गयी.

दूबे भाभी और मैं भी उस में घुस गये और फिर क्या ....थोडी देर में लाली की ब्रा मेरे हाथ में थी...और मेरी तो फ्रंट ओपेन होने के कारण एक झटके में ही खुल गई।सोन्या चांदीचा आजचा भाव

संगीता धीरे से अपने पापा की गोद मे बैठ जाती है अपनी बेटी के गदराए हुए भारी चुतडो का भार सीधे मनोहर के लंड पर पड़ता है और वह तुरंत अपने हाथो को अपनी बेटी के दूध पर धीरे से रख लेता है इतने मे संध्या दरवाजा खोल कर बाहर आ जाती है और मनोहर एक दम से संगीता को पास मे बैठा देता है, उसने मुझे ज़मीन पे धक्का मार के लेटा दिया. उसने मेरे पैर फैला कर उसका लंड मेरी चूत पे रख एक ज़ोरदार झटका दिया. उसका लंड चीरते हुए पूरा मेरी चूत में घुस गया. में ज़ोर से चीख पड़ी ‘आआईयईई... प्लीज़ निकालो इसे. बहुत बड़ा हैं’.

मां की हरकत पर हम सब परेशान थे. उन लडको को नही पता था कि घर के अन्दर उनकी माल का जवान बेटा, ससुर और घरवाला बैठा है और सब देख सुन रहा है.. लेकिन ये रंडी जान बूझ कर हम सब को अपना रंडीपना दीखा रही है.

‘निकालो इसको प्लीज़, बहुत बड़ा हैं आाऐययईई’ उसके आँखों से आँसू निकलने लगे. डिज़िल्वा का लॉडा अभी तो सिर्फ़ 3 इंच तक ही गान्ड में घुसा था.,गाओं की देसी चुदाई उसने अपनी बाजू, टांग़ें, बगलों और योनि के आसपास सब जगहों पर एन फ़्रेन्च क्रीम लगा कर साफ़ और चिकना कर लिया।

News